Search Anythings

Loading...

Wednesday, 25 March 2015

HIGH BLOOD PRESSER

HIGH BLOOD PRESSER के लिए Ayurvedic Treatment



रात को तांबे के बर्तन में पाँव किलो जल रखें और उसमें असली
उच्च Blood Pressure की बीमारी हमारे समाज में खान पान और तनाव युक्त जीवन के वजह लगातार बढ़ रही है। Ayurved में इस बीमारी को ठीक के लिए कुछ उपाय बताए गए हैं जिनको में आपके सामने प्रस्तुत कर रहा हूँ जिनका यदि प्रयोग किया जाए तो लाभ हो सकता है। 
1. रात को तांबे के बर्तन में पाँव किलो जल रखें और उसमें असली* रुद्राक्ष के आठ दाने डालकर रख दें। रोजाना सवेरे उषापान के रूप में वह जल पी जाएँ। इसके morning प्रयोग से तीन महिने में हि Blood Pressure कम हो जाएगा। आप उन्ही दानों को तीन महिने तक प्रयोग कर सकते हैं हाँ रुद्राक्ष को 2-3 सप्ताह बाद ब्रुश से साफ़ करके धुप में सुखा लिजिएं।
2. 250 50 grams ताज़ी हरी लौकी छिलके सहित 500 grams जल में प्रेशर कुकर में डालकर आग पर रख दें और एक सीटी बजने पर आग पर से उतार लिजिएं। मसलकर छान कर (बिना इसमें कुछ मिलाएं) इसे सूप कि तरह गर्म गर्म पी लिजिएं। जरूरत के अनुसार सुबह खाली पेट लगातार 3-4 दिन तक रौजाना एक Dose लिजिएं।
3. एक तांबे की कटोरी में 10-15 grams मैथी दाना रात को जल में भिगो दें। सुबह में मैथी दाना निकालकर वह जल पी लिजिएं। Blood Pressure कि अवस्था में आवश्यक परहेज के साथ यह प्रयोग करने से चाहे Blood Pressure बढ़ा हुआ हो या कम हो सामान्य होने लगेगा। साथ हि इस प्रयोग से मधुमेह तथा मोटापा में भी लाभ होता है।
4. उच्च Blood Pressure में रात्री में सोने से पहले बादाम के तेल की पांच पांच बूंदों का नस्य लेने से भी ना केवल Blood Pressure बल्कि सिर के अनेक रोगों में भी लाभ होता है।
* शुद्ध रुद्राक्ष की पहचान यह है कि शुद्ध रुद्राक्ष जल में डूब जाता है।
Related Links: आयुर्वेदिक औषधियां   |   हृदय रोग    |    हार्टफेल   |    निम्न रक्तचाप  

No comments:

Post a Comment

Share this...

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...